link rel="alternate" href="http://gyangurutech.xyz/" hreflang="en-in" बेटी के नाम से खुलवाये अकाउंट और पाए 6 लाख रूपए | Gyan Guru Tech

बेटी के नाम से खुलवाये अकाउंट और पाए 6 लाख रूपए

बेटी बचाओ बेटी पढाओ के अंतर्गत सुकन्या समृद्धि योजना सरकार के द्वारा दी जा रही है. इसमें आप अपनी बेटी के नाम से बैंक मे खाता खुलवा सकते है .सुकन्या समृद्धि खाता कन्या के जन्म से 10 वर्ष तक की आयु में खोला जा सकता है. जब तक कन्या के माता पिता या अन्य कानूनी अभिभावक खाते की देखरेख कर सकते हैं.10 वर्ष की आयु के बाद कन्या स्वयं अपने खाते के लिए उत्तरदाई बनेगी.

सुकन्या समृद्धि खाता योजना में कितने खाते खोलने की अनुमति है :
साथ ही सुकन्या समृद्धि खाते के तहत कन्या के नाम से केवल एक ही अकाउंट खोले जाने की अनुमति है. कन्या के माता पिता या अन्य कानूनी अभिभावक योजना के तहत अधिकतम दो अकाउंट खोल सकते हैं. अगर माता के प्रथम प्रसव के दौरान एक कन्या है और द्वितीय प्रसव के दौरान दो अर्थात जुड़वा कन्या का जन्म होता है तब वह योजना के तहत दो अकाउंट खोल सकते हैं. इस स्थिति में कन्या के अभिभावको मेडिकल प्रमाण पत्र लेना होगा.

सुकन्या समृद्धि खाता के तहत अकाउंट खोलने हेतु जरूरी दस्तावेज :
बेटी का जन्म प्रमाण पत्र ,
डिपाजिट यानि माता या पिता का परिचय पत्र
डिपाजिट एड्रेस प्रूफ
डिपाजिट  का पैन कार्ड

सुकन्या समृद्धि योजना मे पैसे जमा करने की विधि एवम लाभ  :
सुकन्या समृद्धि खाता के तहत अकाउंट खोलने के लिए डिपाजिट को 1000 की न्यूनतम राशि जमा करना अनिवार्य है. 1 साल में सुकन्या समृद्धि खाते में न्यूनतम 1000 से अधिकतम 150000 रुपए तक जमा किए जा सकते हैं.अगर वर्ष के अंत तक कुल मूल्य राशि 1000 रुपए ही प्राप्त की गई तब उस खाते को निष्क्रिय माना जाएगा. जिस पर दंडस्वरूप 50 रुपए प्रति निष्क्रिय साल लगाया जाएगा. सुकन्या समृद्धि खाता के तहत खोले गए अकाउंट में पैसा नगद , चेक या डिमांड ड्राफ्ट किसी भी तरीके से जमा कराया जा सकता है. चेक अथवा डिमांड ड्राफ्ट पोस्टमास्टर ब्रांच के नाम से बनाए जा सकते हैं. सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ सुकन्या समृद्धि खाता के तहत खोले गए अकाउंट पर दिया जाने वाला ब्याज सरकार द्वारा प्रतिवर्ष बजट के अंतर्गत तय किया जाएगा. 2015-16 में यह ब्याज दर 9.2 प्रतिशत तय की गई थी .अब वर्ष 2017 18 में यह घटकर 8.4 प्रतिशत हो गई है.यह ब्याज चक्रवृद्धि ब्याज के रुप में पॉलिसी के पूरा होने की अवधि 14 वर्षों तक लगता रहेगा. जिस की दरें प्रतिवर्ष बदलती रहेंगी. सुकन्या समृद्धि खाते में रुपए खोले जाने के 14 वर्षों तक जमा किए जा सकते हैं एवं इस खाते को चालू रखने की अवधि 21 वर्ष अथवा कन्या के विवाह तक तय की गई है. सुकन्या समृद्धि खाते के लिए विशेष पासबुक तैयार की गई है जिसमें कन्या की जन्म दिनांक, अकाउंट खोलने का दिनांक, अकाउंट नंबर, डिपाजिट का पता एवं जमा करने वाली कुल राशि है.

इसमें आपको राशि किस प्रकार से मिलेगी उसका पूरा विवरण इस प्रकार समझे :
यदि 2015 में कोई व्यक्ति 1000 रुपए महीने से अकाउंट खोलता है तो उसे 14 साल तक यानी 2028 तक हर साल 12000 डालने होंगे. मौजूदा हिसाब से उससे हर साल 9.13 प्रतिशत व्याज मिलता रहेगा. तो जब बच्ची 21 साल की होगी तो उसे 607105 रुपए मिलेंगे. यहां आपको बता दें कि 14 सालों में इस व्यक्ति को अकाउंट में कुल 1.68 लाख रुपए ही बैंक में जमा करने पड़े बाकी के 4,39,128 रुपए ब्याज के हैं.

सुकन्या समृद्धि खाते के अंतर्गत दी जाने वाली अन्य सुविधा अकाउंट को किसी भी शहर किसी भी अन्य ब्रांच में ट्रांसफर किया जा सकता है. जहां भी कन्या को सुविधा हो. विकट परिस्थिति में जैसे करने की मृत्यु अथवा किसी प्राणघातक समस्या में अकाउंट बंद करने अथवा समय से पूर्व पैसा निकालने की अनुमति है. जिसके लिए प्रमाण देना आवश्यक है. क्रेडिट के रूप में अकाउंट से 50% राशि निकाली जा सकती है. लेकिन यह राशि कन्या की किसी जरूरत जैसे उच्च शिक्षा अथवा शादी आदि से संबंधित होना चाहिए .अगर कन्या का विवाह 18 से 21 वर्ष की अवधि में किया जाएगा तब यह अकाउंट बंद कर दिया जाएगा अर्थात कन्या की शादी के बाद अकाउंट बंद कर दिया जाएगा.




SHARE

Suresh Kumar

दोस्तों मेरा नाम सुरेश कुमार है. मेरी इस वेबसाइट पर मैं अपने जीवन का हर एक अनुभव शेयर करता हूँ. मैं चाहता हूँ कि मेरे अनुभव का फायदा हर किसी को मिले. यदि आपको किसी बारे मे जानकारी है तो मुझे भी सिखायें. मै आपका आभारी रहूंगा.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment