link rel="alternate" href="http://gyangurutech.xyz/" hreflang="en-in" जानिए क्या है PPF अकाउंट, PPF अकाउंट मे पैसा जमा करे और दोगुना लाभ पाए | Gyan Guru Tech

जानिए क्या है PPF अकाउंट, PPF अकाउंट मे पैसा जमा करे और दोगुना लाभ पाए


आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी मे हर व्यक्ति चाहता है कि उसके द्वारा कमाए गए पैसे को सही जगह निवेश किया जाये.लेकिन सही जानकारी न होने की वजह से पैसे को गलत स्कीम मे लगा देते है.जिससे कई बार उन्हें ज्यादा लाभ नही मिल पाता.आज हम आपको एक ऐसे अकाउंट के बारे मे बतायेंगे जिसमे आप अपने पैसे पर ज्यादा ब्याज हासिल कर पाएंगे.आज हम आपको
PPF अकाउंट के बारे मे जानकारी देंगे. PPF का नाम सुनते ही शायद आपका ध्यान ऑफिस वाले PF अकाउंट की तरफ चला जाता है .जिसमें आपकी सैलरी में से कुछ पैसा काट कर आपके ही खाते में जमा कर दिया जाता है.लेकिन आप के ऑफिस वाले PF अकाउंट के अलावा भी एक पीपीएफ खाता होता है.जो आपको आयकर में छूट,रिटायरमेंट की बेहतरीन प्लानिंग और बचत के शानदार विकल्प मुहैया कराता है.ऑफिस वाले PF अकाउंट को EPF नाम से भी जाना जाता है.लेकिन इसकी तमाम सुविधाएं पीपीएफ अकाउंट से अलग होती हैं. इसलिए पीएफ और पीपीएफ के अंतर को गहराई से समझ ले.

ऑफिस के EPF और बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस वाले PPF में क्या अंतर है:
EPF अकाउंट का वह होता है जो नौकरी पेशा लोगों के लिए होता है.जिसमे आपका नियोक्ता आपकी सैलरी में से कुछ निश्चित अमाउंट काटकर PF ऑफिस में जमा कर देता है.जो कि सरकार द्वारा निर्धारित राशि होती है और इस तरह नियोक्ता भी अपना हिस्सा PF ऑफिस मे जमा करता है.इसमें आपके निवेश पर 8.5 तीसरी ब्याज मिलता है.

PPF पब्लिक प्रोविडेंट फंड केंद्र सरकार द्वारा संचालित एक स्कीम है.यह स्कीम बैंक और पोस्ट ऑफिस द्वारा चलाई जाती है.जिसमे आप अपनी स्वेच्छा से अपना खाता खुलवा सकते हैं.ऐसा खाता खुलवाने के लिए जरूरी नहीं कि आप वैतनिक हो.अगर आप व्यवसाय या संविदा अनुबंध के आधार पर काम करते हैं.तब भी आप अपना खाता खुलवा सकते हैं.इसमें आपके निवेश पर 8.7 फीसदी ब्याज मिलता है. पी.पी.एफ का पैसा आमतौर पर 15 साल की मैच्योरिटी के बाद ही निकाला जा सकता है.
पीपीएफ खाता खुलवाने का तरीका :
पीपीएफ खाता आप किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा में जाकर या पोस्ट ऑफिस में जाकर अपना PPF अकाउंट खुलवा सकते हैं.इस तरह के खाते में 15 साल के लिए आपका पैसा फ्रीज हो जाता है.इसके लिए आपको पहले बैंक या पोस्ट ऑफिस का चुनाव करना होगा.जहां आप अपना खाता खुलवाना चाहते हैं.इसके बाद आपको एक PPF फार्म भरना होगा.इस फार्म पर आपको अपने एक उत्तराधिकारी का नाम और उसके हस्ताक्षर चाहिए होंगे.आपको इस खाते के लिए एक गवाह की दरकार भी होती है.लेकिन ध्यान रहे आपका उत्तराधिकारी और गवाह दोनों एक ही व्यक्ति नहीं होनी चाहिए.इस फॉर्म के साथ आपको अपने पते का प्रमाण पत्र,आधार कार्ड और अपनी फोटोग्राफ देनी होगी.फिर उसके बाद आप जितनी राशि का अपना खाता खोलना चाहते हैं.आपको उतनी ही रकम की एक रसीद भरनी होगी.उसके बाद बैंक कर्मी आपको एक पासबुक थमा देगा.जिसमें आपके उत्तराधिकारी समेत आपका नाम दर्ज होगा.आप इस तरह के खाते में हर साल कम से कम 500 रूपए और अधिकतम 75000 रूपए जमा करा सकते हैं. इसमें जमा राशि पर 8.7 फीसदी का ब्याज मिलता है और इस राशि पर आयकर कटौती का लाभ मिलता है.साथ ही साथ ऐसे अकाउंट की मैच्योरिटी होने पर जो राशि प्राप्त होती है.वह कर मुक्त होती है.

पीपीएफ अकाउंट को पोस्ट ऑफिस से बैंक मे ट्रान्सफर करने का तरीका:
1. आम तौर पर लोगों को गलत जानकारी होती है कि पीपीएफ एकाउंट सिर्फ पोस्ट ऑफिस में ही खोला जाता है.यह बैंक में भी खोला जाता है. ऐसे में अगर आपका पीपीएफ अकाउंट पोस्ट ऑफिस में है तो आप उसे बैंक में भी ट्रांसफर करवा सकते हैं.

2. सबसे पहले आप अपने बैंक से यह जानकारी हासिल करें कि उनकी कौन सी ब्रांच PPF डिपाजिट लेती है.इसके बाद आप ट्रांसफर के लिए आवेदन कर सकते हैं.यह फार्म आपको पोस्ट ऑफिस में जमा कराना होता है और इसमें उस बैंक की तमाम जानकारी नत्थी करनी होती हैं.जहां आप अपना अकाउंट ट्रांसफर करवाना चाहते हैं. साथ ही आपको पोस्ट ऑफिस की मूल पासबुक की कॉपी भी देनी होती है.

3.आवेदन करने के बाद आपका पोस्ट ऑफिस इसकी जांच करता है और फिर आपका खाता बंद कर आपकी तमाम जानकारियां आपके पसंदीदा बैंक को भेज देता है.यह जानकारी बैंक के साथ-साथ खाता धारक को भी दी जाती है.

4. इस प्रकिर्या के बाद आप बैंक मे जाकर अधिकारी से सम्पर्क करे और पोस्ट ऑफिस द्वारा दिए गए फार्म को बैंक मे जमा करे और अपनी नई पासबुक बैंक से प्राप्त करे.

आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी कमेन्ट करके जरुर बतायें अगर अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ शेयर करे .
SHARE

Suresh Kumar

दोस्तों मेरा नाम सुरेश कुमार है. मेरी इस वेबसाइट पर मैं अपने जीवन का हर एक अनुभव शेयर करता हूँ. मैं चाहता हूँ कि मेरे अनुभव का फायदा हर किसी को मिले. यदि आपको किसी बारे मे जानकारी है तो मुझे भी सिखायें. मै आपका आभारी रहूंगा.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment