link rel="alternate" href="http://gyangurutech.xyz/" hreflang="en-in" हनीप्रीत की गुहार बाबा गुरमीत राम रहीम से मिलवा दो | Gyan Guru Tech

हनीप्रीत की गुहार बाबा गुरमीत राम रहीम से मिलवा दो

जब से हनीप्रीत को पुलिस के द्वारा न्यायिक हिरासत में लिया गया है.उसने एक बात की रट लगाई हुई है कि पापा से मिलवा दो. उनकी कमर में दर्द रहता है मुझे उनसे मिलना है. हनीप्रीत को न्यायिक हिरासत से अंबाला सेंट्रल जेल में भेजे जाने तक उसने यह रट लगा रखी है कि मुझे पापा से मिलना है और मुझे उनसे मिलवा दो.उसने जेल के अधिकारियों से बार-बार अपने पिता राम रहीम से मिलने की बात कही.लेकिन जेल मे उसकी किसी भी बात को अधिक महत्व नही दिया गया.बता दे कि गुरमीत राम रहीम साध्वी रेप केस मे 20 साल की सजा भुगत रहा है.उस पर कई साध्वियो से कुकर्म करने का आरोप है. हनीप्रीत उसकी मुहबोली बेटी है जो कि उसका सारा कारोबार संभालती थी.काफी खोजबीन के बाद हनीप्रीत पुलिस के हाथ लगी है और अब पुलिस हनीप्रीत से उसके सभी काले कारनामो के बारे मे पूछ रही है.लेकिन हनीप्रीत अपने गलत जवाबो से पुलिस को गुमराह करने की कोशिश कर रही है.

पूछताछ के दौरान हनीप्रीत ने अपने आप को बीमार बताया. जब डॉक्टरों की टीम ने उस का निरीक्षण किया तो उन्होंने पाया कि हनीप्रीत बिलकुल ठीक है. हनीप्रीत को जेल में ब्यूटी पार्लर वाले कमरे के साथ वाली जेल में रखा गया और उस दिन आलू बैंगन की सब्जी बनी थी.लेकिन हनीप्रीत ने कुछ भी खाने से मना कर दिया. बस उसने अपने पापा से मिलने की रट लगा रखी थी. हनीप्रीत और उसकी सहयोगी सुखदीप कौर को शुक्रवार शाम 6:14 पर अंबाला सेंट्रल जेल लाया गया.रात करीब 8:00 बजे तक डॉक्टरों की टीम हनीप्रीत के पास रही और उसके स्वास्थ्य को जांचा गया और सब कुछ नॉर्मल ही पाया गया.हनीप्रीत खुद को और गुरमीत राम रहीम को निर्दोष साबित करने के लिए पंजाब हाइकोर्ट मे अपील कर रही है.
आप कमेंट में हनीप्रीत के बारे में अपनी राय जरुर दें ताकि सबको सच्चाई का पता चल सके.
SHARE

Suresh Kumar

दोस्तों मेरा नाम सुरेश कुमार है. मेरी इस वेबसाइट पर मैं अपने जीवन का हर एक अनुभव शेयर करता हूँ. मैं चाहता हूँ कि मेरे अनुभव का फायदा हर किसी को मिले. यदि आपको किसी बारे मे जानकारी है तो मुझे भी सिखायें. मै आपका आभारी रहूंगा.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment