link rel="alternate" href="http://gyangurutech.xyz/" hreflang="en-in" अगर आप चूल्हे पर बनी हुई रोटी खाते हैं तो जान ले वरना बाद में पछताएंगे | Gyan Guru Tech

अगर आप चूल्हे पर बनी हुई रोटी खाते हैं तो जान ले वरना बाद में पछताएंगे

chulhe per roti khane ke faayde
piixabay.com
आज के आधुनिक युग में टेक्नोलॉजी का इतना अधिक विकास हो चुका है कि इंसान अपना काम मशीनों से करवाने पर ही अच्छा महसूस करता है. क्योंकि मशीनों से कम समय में अधिक काम हो जाता है.लेकिन इन मशीनों का अपने घरेलू जीवन में अधिक इस्तेमाल करना कभी-कभी नुकसानदायक भी होता है.आज हम आपको बताएंगे कि यदि आप घर में गैस चूल्हे पर रोटी बनाते हैं तो उसके क्या फायदे और नुकसान है. साथ में हम आपको यह भी बताएंगे कि यदि आप साधारण चूल्हे पर रोटी पका कर खाते हैं तो उसके क्या फायदे होते हैं. गेहूं से बने आटे में कार्बोहाइड्रेट, स्टार्च  व अन्य पोषक तत्व होते हैं जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक होते हैं.गैस चूल्हे पर रोटी बनाते समय अक्सर कई महिलाएं रोटी को खड़ा करके पकाती हैं.जिससे वह रोटी जल्दी फूल जाती है. लेकिन इस प्रकार रोटी को फुलाने से उसके अंदर के पोषक तत्व जलकर नष्ट हो जाते हैं. क्योंकि गैस चूल्हे का तापमान इतना अधिक होता है कि वह अपने ताप से उन पोषक तत्वों को जला देता है. ऐसी रोटी को जब हम खाते हैं तो हमारे शरीर को पूरे पोषक तत्व नहीं मिल पाते है. जिससे हमारा शरीर ताकतवर नहीं बन पाता. शरीर को पूरे पोषक तत्व ना मिल पाने के कारण वह बीमारियों से घिर जाता है.
वही  दूसरी तरफ जब हम साधारण चूल्हे पर रोटी पकाते हैं तो रोटी धीरे-धीरे पकती है. साधारण चूल्हे पर रोटी बनाने से हमारी रोटी अधिक पौष्टिक बनती है और उसके अंदर के पोषक भी नष्ट नहीं होते है.अगर हम आर्थिक दृष्टि से देखें तो चूल्हे पर रोटी पकाना सस्ता भी है.क्योंकि गैस पर रोटी पकाने के लिए हमें हर महीने सिलेंडर भरवाना पड़ता है जो कि बहुत महंगा होता जा रहा है.आजकल तो उस पर सब्सिडी भी जारी कर दी गई है. दूसरी तरफ हम घरेलू चूल्हे पर रोटी बनाते हैं तो उसमें हम अपने घर का इंधन इस्तेमाल कर सकते हैं. यदि आपके घर में पशु है तो आप उनके गोबर से बने उपले ईंधन के रूप में प्रयोग कर सकते हैं.जिससे आपका ईंधन का खर्चा भी बचेगा और पशुओं के द्वारा आपको शुद्ध दूध और घी भी प्राप्त होगा.
आपने कई बार देखा होगा कि जब आप कुकर के अंदर कोई सब्जी बनाते हैं तो वह एक या दो सिटी में ही बन जाती है. हमें ऐसा लगता है कि हमारी सब्जी पूरी तरह से पक चुकी है. लेकिन याद रखिये कुकर के अंदर बनी हुई सब्जी कभी भी ठीक तरह से पकती नहीं है बल्कि वह गल जाती है. इस प्रकार बनी हुई  सब्जी को जब हम खाते हैं तो हमारे पेट में गैस की प्रॉब्लम हो जाती है.जब भी कभी हम घरेलू चूल्हे पर रोटी और सब्जी बनाते हैं तो समय अधिक लगता है. क्योंकि हमारा खाना धीरे-धीरे पकता है.इस प्रकार का खाना हमारे शरीर को बहुत फायदा पहुंचाता है.
अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो पोस्ट को लाइक और शेयर जरूर करें और कमेंट करके बताएं कि आपको खाना बनाने के लिए कौन सी विधि अधिक लाभकारी महसूस होती है.
SHARE

Suresh Kumar

दोस्तों मेरा नाम सुरेश कुमार है. मेरी इस वेबसाइट पर मैं अपने जीवन का हर एक अनुभव शेयर करता हूँ. मैं चाहता हूँ कि मेरे अनुभव का फायदा हर किसी को मिले. यदि आपको किसी बारे मे जानकारी है तो मुझे भी सिखायें. मै आपका आभारी रहूंगा.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment