link rel="alternate" href="http://gyangurutech.xyz/" hreflang="en-in" अमीर बनना चाहते हैं तो इन बातों पर जरूर ध्यान दें | Gyan Guru Tech

अमीर बनना चाहते हैं तो इन बातों पर जरूर ध्यान दें

ameer banne ke treeke, ameer banne ke totke in hindi,ameer kaise bane hindi

अमीर बनना चाहते हैं तो इन बातों पर जरूर ध्यान दें

दोस्तों आज की दुनिया में हर कोई पैसा कमाना चाहता है. हर कोई ऐशो-आराम और सुविधा चाहता है. लेकिन आमतौर पर हम देखते हैं कि अमीर और अधिक अमीर होता जा रहा है और गरीब और अधिक गरीब होता जा रहा है. आज हम आपको बताएंगे कि यदि आप भी अमीर बनना चाहते हैं तो आपको क्या करना होगा.

प्रसिद्ध लेखक डॉ रॉबर्ट कियोसाकी अपनी किताब में लिखते हैं कि अमीर लोगों के अंदर कोई विशेष प्रतिभा नहीं होती है. वह भी आम लोगों की तरह ही होते हैं.लेकिन उनके अंदर पैसे को खर्च करने की सही कला होती है. जिसके कारण वह और अधिक पैसा कमाते हैं. लेकिन गरीबों के अंदर पैसे को सही प्रकार से खर्च ना करने के कारण वह और अधिक गरीब होते चले जाते हैं.

आपको एक उदाहरण के द्वारा समझाते हैं. जब किसी अमीर आदमी के पास पैसा आता है तो वह अपने पैसे को इन्वेस्ट करता है. उस पैसे से कोई मशीन अथवा नया काम शुरू करने की कोशिश करता है. जबकि किसी गरीब आदमी के पास अधिक पैसा आ जाता है तो वह सोचता है कि थोड़ा एंजॉय कर लो. वह अपने दोस्तों को पार्टी देता है. घूमने के लिए बाहर चला जाता है या फिर एक गाड़ी ले लेता है. उसे ऐसा लगता है कि वह अपने जीवन में संपत्ति खरीद रहा है. जब किसी मध्यम वर्गीय परिवार के पास पैसा अधिक आ जाता है तो वह महंगी गाड़ी खरीद लेता है. उस गाड़ी को खरीदने के बाद फिर उस गाड़ी को अपने घर में खड़ी कर देता है. कभी कभी उस गाड़ी में घूमने के लिए बाहर जाता है. लेकिन उस गाड़ी की हर महीने सर्विस करवानी पड़ती है. गाड़ी का मेंटेनेंस भी करवाना पड़ता है. जब वह गाड़ी को बाहर लेकर जाता है तो रोड टैक्स भी देना पड़ता है. जब गाड़ी घर में खड़ी होती है तो यह भी चिंता सताती है कि गाड़ी को कोई स्क्रैच ना कर दे. इसलिए उसे कवर करके रखता है. यह सब करके उसे ऐसा लगता है कि वह संपत्ति खरीद कर घर में लाया है. लेकिन वास्तव में वह उसके लिए संपत्ति नहीं होती बल्कि उसके लिए एक दायित्व बन जाती है.

आमतौर पर यह भी देखा गया है कि एक साधारण सा 10000 रूपए कमाने वाला व्यक्ति भी थोड़ी बहुत बचत तो कर ही लेता है. बचत करने के बाद वह 1000 का मोबाइल छोड़कर 15000 का मोबाइल खरीद लेता है. ताकि वह भी अमीर आदमियों की तरह दिख सके. उसे ऐसा लगता है कि यह मोबाइल उसके बचत के पैसों से खरीदा गया है. इसलिए उसे कोई हानि नहीं हुई है और यह उसके लिए एक संपत्ति है. लेकिन महंगा मोबाइल खरीदने के बाद चोरी के खतरे से बचने के लिए मोबाइल का इंश्योरेंस करवाता है. उसके बाद उसमें इंटरनेट का भी इस्तेमाल करता है. मोबाइल कहीं गिर कर टूट ना जाए इसलिए उस पर महंगा कवर भी चढ़ाता है. इस प्रकार उस पर एक जिम्मेदारी और अधिक बढ़ जाती है. यदि 1लाख कमाने वाला आदमी 15000 रूपए का मोबाइल खरीदता है तो वह उसके लिए संपत्ति होती है. लेकिन 10000 रूपए कमाने वाला व्यक्ति भी अपने बचत के पैसों से 15000 रूपए का मोबाइल खरीद लेता है तो वह उस व्यक्ति के लिए संपत्ति की बजाय उसका दायित्व बन जाता है.

यदि हम गरीब लोगो के व्यक्ति के दैनिक जीवन की बैलेंस शीट बनाएं तो उनकी बैलेंस शीट में संपत्तियों से ज्यादा अधिक दायित्व होते हैं. इनमें बहुत से ऐसे दायित्व होते हैं जो कि उन्होंने अपने शौक के कारण पैदा किये होते हैं. अपने बचत के पैसों को सही जगह इन्वेस्ट ना करके वह अपने शौक और फालतू खर्चों में उड़ा देता है. इसी कारण गरीब आदमी जीवन भर दायित्व के बोझ तले दबा रहता है और अमीर आदमी अपने पैसे को सही जगह इन्वेस्ट करके अमीर बनता जाता है.

गरीब आदमी अपने पैसे को सुख-सुविधा के साधनों पर खर्च करता है. जबकि अमीर आदमी अपने पैसे को अपना बिजनेस बढ़ाने के लिए खर्च करता है. गरीब आदमी जहां पर अधिक पैसा कमाने लगता है. उसके विलासिता के खर्चे अपने आप बढ़ने लगते हैं. सुख सुविधा ऐशो-आराम की जिंदगी जीना अच्छी बात है. लेकिन अपने ऐशो-आराम और खर्चों के बीच में सही तालमेल होना भी जरूरी होता है. यदि हम जीवन में पैसे को इन्वेस्ट करने की बजाय खर्च करते चले जाएंगे तो जीवन भर गरीब ही रहेंगे. जिस प्रकार पैसा कमाना एक कला होती है. उसी प्रकार पैसे बचाने की कला भी सीखनी चाहिए. हमें हर महीने कुछ पैसे को बचाकर किसी नए काम में इन्वेस्ट करने चाहिए. जिस दिन आप अपने पैसे को सही जगह इन्वेस्ट करने लगेंगे आपको अपने जीवन स्तर में फर्क दिखाई देने लगेगा.

अब जब भी कभी आप कोई वस्तु खरीदे तो खरीदने से पहले एक बार जरूर सोचें कि आपके लिए यह संपत्ति है अथवा दायित्व है. जिस दिन आपकी बैलेंसशीट मे दायित्वो की तुलना मे सम्पत्ति का कॉलम अधिक हो जायेगा आप भी प्रगति करने लगेंगे.        

दोस्तों गरीब होना कोई बुरी बात नहीं है. लेकिन यदि आप गरीब रहते हुए ही दुनिया से चले जाते हैं तो बहुत अफसोस की बात है. हालांकि मैं भी कोई ज्यादा अमीर नहीं हूं. लेकिन मैंने इन तरीकों को अपनाकर अपने जीवन स्तर में कुछ सुधार किया है और मैं यह चाहता हूं कि मेरे इस अनुभव का आप भी लाभ उठा सकें.

दोस्तों आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं पोस्ट अच्छी लगी हो तो लाइक और शेयर कर दें. कमेंट करके बताएं कि आपकी इस बारे में क्या राय है.
SHARE

Suresh Kumar

दोस्तों मेरा नाम सुरेश कुमार है. मेरी इस वेबसाइट पर मैं अपने जीवन का हर एक अनुभव शेयर करता हूँ. मैं चाहता हूँ कि मेरे अनुभव का फायदा हर किसी को मिले. यदि आपको किसी बारे मे जानकारी है तो मुझे भी सिखायें. मै आपका आभारी रहूंगा.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment