link rel="alternate" href="http://gyangurutech.xyz/" hreflang="en-in" पोस्ट ऑफिस की MIS स्कीम मे पैसा इन्वेस्ट करने पर आपको हर महीने इनकम मिलती रहेगी | Gyan Guru Tech

पोस्ट ऑफिस की MIS स्कीम मे पैसा इन्वेस्ट करने पर आपको हर महीने इनकम मिलती रहेगी

MIS,monthly income scheme,मंथली इनकम स्कीम,post office scheme,mis scheme kya hai
MIS

पोस्ट ऑफिस की MIS स्कीम मे पैसा इन्वेस्ट करने पर आपको हर महीने इनकम मिलती रहेगी

दोस्तों आज के समय में हर इंसान को पैसे की जरूरत होती है. कई बार कुछ लोगों के पास कोई नौकरी नहीं होती है. लेकिन उनके पास इकट्ठा पैसा होता है. ऐसी स्थिति वह सोचते हैं कि इस पैसे को किसी ऐसी जगह पर लगाया जाए जहां से उन्हें हर महीने इनकम मिलती रहे। आज हम आपको इस पोस्ट में पोस्ट ऑफिस की एक ऐसी स्कीम के बारे में बताएंगे। जिसमें पैसा इन्वेस्ट करके आप हर महीने इनकम प्राप्त कर सकते हैं।
इस स्कीम का नाम MIS यानि MONTHLY INCOME SECHME है । इस स्कीम को आप किसी भी पोस्ट ऑफिस में जाकर अपने पैन कार्ड और आधार कार्ड के जरिए ले सकते हैं।  इसमे  आप 1500 से लेकर 4.5 लाख रुपए तक इन्वेस्ट कर सकते हैं।  इस स्कीम में इस समय 7.6 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दिया जा रहा है। इस स्कीम को आप अपने तथा अपने बच्चे के नाम से भी ले सकते हैं।
एक उदाहरण के द्वारा आपको समझाते हैं।  मान लीजिए आपने 400000 रूपये 5 साल के लिए इन्वेस्ट किए और आपको 7.6 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दिया जा रहा है।  इस हिसाब से 30400 रूपये आपको हर साल दिए जाएंगे। यदि आप हर महीने के हिसाब से कैलकुलेट करे तो आपको प्रत्येक महीने 2533 रूपये मिलेंगे।लेकिन आपको इस स्कीम में पैसा इन्वेस्ट करने के बाद यह बात ध्यान में रखनी है कि इसमे प्राप्त होने वाला ब्याज टैक्स फ्री नहीं है। जब आप अपनी इनकम टैक्स रिटर्न भरते हैं तो आपको यह ब्याज उसमें दिखाना होता है।

यदि इस समय आपका बच्चा 10 साल से कम आयु का है और आपने उसके नाम से MIS लिया हुआ है। जब आपका बच्चा 10 साल से बड़ा हो जाता है तो वह पोस्ट ऑफिस में जाकर अपने खाते का संचालन करने के लिए आवेदन करके खुद भी खाते का संचालन कर सकता है। इस स्कीम को आप किसी दूसरे व्यक्ति को भी ट्रांसफर कर सकते हैं। इसको खुलवाने के लिए आप ज्वाइंट अकाउंट भी रख सकते हैं।  
इसमें पैसा इन्वेस्ट करने के बाद आपको पैसा बीच में नहीं निकालना चाहिए। यदि आप 1 से 3 साल के बीच में पैसे निकलवाते हैं तो आपको 3 प्रतिशत काट कर आमाउंट दिया जाता है। यदि आप 3 से 5 साल के बीच में पैसा निकलवाते हैं तो आपको 2 प्रतिशत काट कर दिया जाता है। इसलिए कोशिश करें कि आप पैसा बीच में ना ही निकलवाए।  
यदि आप MIS खाता खुलवा लेते हैं लेकिन आपके पास इनकम का कोई दूसरा सोर्स भी है। इस समय आपको मंथली इनकम की जरूरत नहीं है।  तो ऐसी स्थिति में आप पोस्ट ऑफिस में रिक्वायरिंग डिपॉजिट खाता भी खुलवा सकते हैं और MIS को रिक्वायरिंग डिपॉजिट से लिंक करवा सकते हैं। जब आपकी मंथली इनकम होगी तो वह ऑटोमेटिक रिकॉर्डिंग डिपाजिट में ट्रांसफर हो जाएगी और आपको उस मंथली इनकम पर रिक्वायरिंग डिपॉजिट के हिसाब से ब्याज मिलता रहेगा।  यानी कि आप एमआईएस के ब्याज पर रिकरिंग डिपॉजिट मे पैसा ले जाकर ब्याज के ऊपर ब्याज प्राप्त कर सकते हैं।  
इस स्कीम की अवधि 5 साल की है।  5 साल के बाद यदि आप चाहें तो आगे अवधि बढ़ा सकते हैं।  इस स्कीम के अंदर एक व्यक्ति को 4.5 लाख से अधिक निवेश करने की अनुमति नहीं है।  यदि एक व्यक्ति के एक से अधिक MIS खाते भी होते हैं तो भी उन सभी खातों का योग 4.5 लाख से अधिक नहीं होना चाहिए। इसमे आपकी जमा पूंजी ज्यो की त्यों बनी रहती है। 5 साल बाद आपकी जमा पूँजी आपको वापिस दे दी जाती है।   
दोस्तो जानकारी अच्छी लगी हो तो पोस्ट को लाइक और शेयर जरूर करें।  कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट करके पूछ सकते हैं।
SHARE

Suresh Kumar

दोस्तों मेरा नाम सुरेश कुमार है. मेरी इस वेबसाइट पर मैं अपने जीवन का हर एक अनुभव शेयर करता हूँ. मैं चाहता हूँ कि मेरे अनुभव का फायदा हर किसी को मिले. यदि आपको किसी बारे मे जानकारी है तो मुझे भी सिखायें. मै आपका आभारी रहूंगा.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment